गृह मंत्री अनिल विज के अंबाला स्थित आवास पर लगा सैकड़ों फरियादियों का तांता, न्याय की आस में प्रदेश के कोने-कोने से पहुंचे लोग

गृह मंत्री अनिल विज के अंबाला स्थित आवास पर लगा सैकड़ों फरियादियों का तांता, न्याय की आस में प्रदेश के कोने-कोने से पहुंचे लोग

कबूतरबाजी के कई मामले सामने आए, जिस पर गृह मंत्री अनिल विज ने एसआईटी को सौंपी जांच

गृह मंत्री अनिल विज ने हत्या के अलग-अलग मामलों की जांच के लिए एसआईटी गठित करने के दिए निर्देश

हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज का जनता दरबार आजकल नहीं लग रहा है, मगर उनके आवास पर प्रतिदिन प्रदेशभर से फरियादियों का तांता लग रहा है। शनिवार को सैकड़ों की संख्या में फरियादी न्याय की आस में गृह मंत्री अनिल विज के अम्बाला आवास पर अपनी फरियाद लेकर पहुंचे, जिन्हें गृह मंत्री ने सुना और संबंधित अधिकारियों को कार्रवाई के दिशा-निर्देश दिए।

        जन सुनवाई के दौरान कबूतरबाजी के कई मामले सामने आए जिस पर गृह मंत्री अनिल विज ने कबूतरबाजी के मामलों के लिए गठित एसआईटी को जांच सौंपी

        करनाल से आए एक व्यक्ति ने आरोप लगाया कि एजेंट ने उसे अमेरिका भेजने का झांसा दिया था। वह जमींदार है और उसने अपनी जमीन गिरवी रखकर 75 लाख रुपए अलग-अलग दिनों में एजेंट को दिए। मगर इसके बाद एजेंट फरार हो गया और अब उसे पता चला कि एजेंट अमेरिका में चला गया है। इसी तरह, पंजाब के कपूरथला से आए व्यक्ति ने बताया कि अमेरिका भेजने के लिए एजेंट ने उससे 90 लाख रुपए मांगे थे और 55 लाख रुपए में बात तय हुई थी। उसने एजेंट को विभिन्न माध्यम से 55 लाख रुपए की राशि दी जिसके बाद एजेंट ने उसे अमेरिका भेजने के बजाए तुर्की भेज दिया। इसके बाद एजेंट का फोन बंद हो गया और तुर्की से उसे डि-पोर्ट कर दिया गया। वहीं, करनाल निवासी व्यक्ति ने बताया कि उसे अर्मेनिया भेजने का झांसा देकर एजेंट ने 3.25 लाख रूपए की धोखाधड़ी की जबकि नारायणगढ़ निवासी व्यक्ति ने उसे न्यूजीलैंड भेजने के नाम पर 2 लाख ठगी के आरोप लगाए।

ALSO READ :   HSSC Update: हरियाणा सरकार को हाईकोर्ट ने दिया बड़ा झटका, TGT भर्ती में नहीं हो पाएगा ये काम

गृह मंत्री अनिल विज ने हत्या के मामलों की जांच के लिए एसआईटी गठित करने के निर्देश दिए

        गृह मंत्री अनिल विज के समक्ष हत्या के कई मामले सामने आए जिन पर विभिन्न जिलों के एसपी को एसआईटी गठित कर जांच के निर्देश दिए। महेंद्रगढ़ से आए व्यक्ति ने कहा कि उसके भाई की हत्या के बाद पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया है। इसी तरह, कुरुक्षेत्र से आए परिवार ने बताया कि उनके बेटे की हत्या मामले में आरोपी पकड़े नहीं गए हैं और उलटा आरोपी अब उन्हें धमकियां दे रहे हैं। गृह मंत्री ने एसपी से इस मामले में एक्शन रिपोर्ट तलब करते हुए एसआईटी गठित कर जांच के निर्देश दिए। इसी तरह, सिरसा से आए बाजीगर समाज के लोगों ने युवक की हत्या के बाद आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने के आरोप लगाए। गृह मंत्री ने मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित करने के निर्देश दिए।

ALSO READ :   Ram Mandir: देशभर में आज दिवाली जैसा माहौल, दुल्हन की तरह सजी है अयोध्या

जमीनी धोखाधड़ी के कई मामलों में गृह मंत्री ने कार्रवाई के निर्देश दिए

        जनसुनवाई के दौरान जमीनी धोखाधड़ी के भी कई मामले गृह मंत्री अनिल विज के सामने आए जिन पर कार्रवाई के निर्देश दिए गए। यमुनानगर निवासी परिवार ने उनकी खेती की जमीन फर्जी कागजात बनाकर रिश्तेदारों द्वारा हड़पने की शिकायत दी जिस पर मंत्री ने एसपी यमुनानगर को केस की जांच कर मामला दर्ज करने के निर्देश दिए। इसी तरह, यमुनानगर के गांव शाहपुर निवासी व्यक्ति ने गांव में अम्बेडकर भवन निर्माण में गबन के आरोप लगाए। भिवानी में जमीनी धोखाधड़ी के मामले में कार्रवाई नहीं होने पर गृह मंत्री श्री अनिल विज ने जांच स्टेट क्राइम ब्रांच से कराने के निर्देश दिए।

पूर्व सैनिक के बेटे को सरकारी नौकरी लगाने के नाम पर 7 लाख की ठगी, मंत्री ने एसपी करनाल को जांच के निर्देश दिए

        गृह मंत्री अनिल विज को करनाल से आए पूर्व सैनिक ने शिकायत देते बताया कि उसके बेटे को सरकारी नौकरी लगाने के नाम पर आरोपियों ने 7 लाख रुपए की ठगी की। उसके बाद न तो नौकरी मिली न ही पैसे वापस दिए गए, मंत्री ने करनाल एसपी को मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए।

ALSO READ :   Big Boss 17 से इस हफ्ते हुआ डबल इविक्शन, जानिए कौन-कौन हुआ बाहर?

        इसी प्रकार, करनाल से आई आशा वर्कर ने उसे जान से मारने की धमकी देने, शाहबाद निवासी महिला ने घर में घुसकर उससे मारपीट करने, जगाधरी वर्कशॉप निवासी परिवार ने घर के पास मैरिज पैलेस पर देर रात तक डीजे बजाने के आरोप लगाए, कैथल निवासी कई लोगों ने जोहड़ की खुदाई के दौरान उनके मकानों में दरारें आने की शिकायत दी, रेवाड़ी निवासी महिला ने पुराने रंजिश को लेकर मारपीट करने एवं अन्य कई मामले सामने आए जिनपर गृह मंत्री श्री अनिल विज ने संबंधित अधिकारियों को कार्रवाई के दिशा-निर्देश दिए।

journalist in chandigarh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *