Dhirendra Shastri Threat: पंडित धीरेंद्र शास्त्री को मिली जान से मारने की धमकी, ईमेल के जरिए लॉरेंस बिश्नोई गैंग के नाम से मांगी फिरौती

Dhirendra Shastri Threat: पंडित धीरेंद्र शास्त्री को मिली जान से मारने की धमकी, ईमेल के जरिए लॉरेंस बिश्नोई गैंग के नाम से मांगी फिरौती

Dhirendra Shastri Threat: बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित धीरेंद्र शास्त्री को जान से मारने की धमकी मिली है। लॉरेंस बिश्नोई गैंग के नाम से उन्हें ई-मेल आया। आरोपी ने इसमें 10 लाख रुपए की मांग की थी।

छतरपुर जिले की बमीठा पुलिस ने आरोपी को बिहार के पटना से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक आरोपी ने दो-तीन मेल किए थे। सभी में 10 लाख रुपए की मांग की गई। रुपए नहीं मिलने पर जान से मारने की धमकी भी दी थी।

शनिवार को आरोपी को राजनगर कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया। आरोपी बिहार के नालंदा जिले के शंकरडीह गांव का रहने वाला है और हाल में कंकरबाग पटना में रह रहा था।

पुलिस ने बताया कि पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को जान से मारने की धमकी वाला ईमेल 19 अक्टूबर 2023 को भेजा गया था। आरोपी ने ये ईमेल लॉरेन्स बिश्नोई गैंग के नाम से भेजा था।

इसमें धीरेंद्र शास्त्री को एक दिन का समय दिया था और जान बचाने के लिए 10 लाख रुपए की मांग की गई थी। पहले ईमेल पर कोई जवाब नहीं मिलने पर आरोपी ने 22 अक्टूबर को दूसरा ईमेल भेजा।

धीरेंद्र शास्त्री की ओर से 20 अक्टूबर को बमीठा थाने में धमकी भरे ईमेल को लेकर सूचना दी गई थी। पुलिस ने मामला संवेदनशील होने पर तुरंत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी।

ALSO READ :   Chandigarh News: चंडीगड़ में जॉय और जॉली ने अंडर-10 वर्ग में जीता डीआईएस फुटबॉल कप 

जिसके बाद साइबर सेल की मदद से आरोपी को पकड़ लिया गया। छतरपुर एसपी अमित सांघी ने बताया कि हमने इस मामले में गोपनीय तरीके से कार्रवाई की है। आरोपी को कंप्यूटर का बहुत नॉलेज है। हालांकि लॉरेंस बिश्नोई गैंग से उसका डायरेक्ट कनेक्शन नहीं मिला है।

एसपी ने बताया कि जिस दिन मेल आया उसी दिन एफआईआर दर्ज करके जांच शुरू कर दी थी। इलेक्शन के कारण हम थोड़ा लेट हुए, नहीं तो आरोपी पहले पकड़ा जाता। SP छतरपुर एसपी अमित सांघी ने बताया कि आरोपी इंटरनेट और कंप्यूटर का जानकार है। उसने डार्क वेब की मदद से ईमेल भेजा।

हम डायरेक्ट डार्क वेब का डेटा नहीं निकाल सकते। इसलिए CBI की मदद से इंटरनेशनल पुलिस की मदद ली। डार्क वेब का डेटा मिलने पर आरोपी को बिहार से पकड़ा। हालांकि लॉरेंस बिश्नोई गैंग से उसका डायरेक्ट कनेक्शन नहीं मिला है।

SP ने बताया कि जिस दिन मेल आया उसी दिन एफआईआर दर्ज करके जांच शुरू कर दी थी। इलेक्शन के कारण हम थोड़ा लेट हुए, नहीं तो आरोपी पहले पकड़ा जाता।

एसपी ने कहा कि मुझे लगता है कि छतरपुर में ये पहला मामला है, जब इंटरपोल पुलिस की मदद ली गई है। डार्क वेब का डाटा लाना बहुत मुश्किल काम है, लेकिन हमने ये कर दिखाया।

ALSO READ :   Antyodya Aahaar Yojna: हरियाणा में मात्र 10 रुपये में मिल रहा है पौष्टिक भोजन, सभी जिलों में 127 श्रमिक कैंटीन की हुई शुरूआत

​पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को इससे पहले जनवरी में परिवार सहित जान से मारने की धमकी मिली थी। अमर सिंह नाम के व्यक्ति ने उनके चचेरे भाई को फोन पर धमकी दी थी।

उसने कहा था कि धीरेंद्र शास्त्री परिवार सहित तेरहवीं की तैयारी कर लो। इस मामले में बमीठा पुलिस ने FIR दर्ज की थी। नवंबर 2023 में धीरेंद्र शास्त्री का एक वीडियो वायरल हुआ। इसमें वे कहते दिखे कि संत तुकाराम को उनकी पत्नी रोज पीटती थी।

उनकी टिप्पणी से महाराष्ट्र में वारकरी समुदाय का बड़ा वर्ग नाराज हो गया था। धीरेंद्र शास्त्री के स्वयंसेवकों और संत तुकाराम के अनुयायियों के बीच महाराष्ट्र के संगमवाड़ी में धार्मिक प्रवचन के दौरान झड़प हुई।

इस घटना के बाद धीरेंद्र शास्त्री ने कहा कि संत तुकाराम के प्रति मेरे मन में बहुत सम्मान है। यदि किसी की भावना को चोट पहुंची है तो मुझे इसे लेकर खेद है। धीरेंद्र ने देहु रोड स्थित संत तुकाराम की ऐतिहासिक समाधि पर माथा टेका श्रद्धासुमन अर्पित किए।

27 अप्रैल 2023 को धीरेंद्र शास्त्री ने राजा सहस्रबाहु को लेकर विवादित बयान दिया था। इसमें उन्होंने कहा था, ‘यहां पर बहुत से बुद्धि और तर्क के लोग ब्राह्मण और क्षत्रियों में आपस में टकराने के लिए उपाय करते रहते हैं।

ALSO READ :   History of 10 December: आज का इतिहास, जानिए 10 दिसम्बर की महत्वपूर्ण घटनाएँ

कहा जाता है कि 21 बार क्षत्रियों से भूमि विहीन कर दी गई थी। बात मजाक और हंसी की यह है कि अगर एक बार क्षत्रियों को मार दिया गया तो 20 बार क्षत्रिय कहां से आए? 21वीं बार की जरूरत क्यों पड़ी? ये क्षत्रिय अचानक से प्रकट कहां से हो जाते थे?’

धीरेंद्र शास्त्री के इस बयान का देशभर में विरोध हुआ। उन पर FIR करने की मांग को लेकर प्रदर्शन हुए। बाद में धीरेंद्र शास्त्री ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक वीडियो जारी किया, जिसमें उन्होंने हैहय वंश के महाराजा सहस्त्रबाहु अर्जुन पर जो टिप्पणी की थी, उस पर खेद जताया और माफी भी मांगी।

I am working as an Editor in Bharat9 . Before this I worked as a television journalist with a demonstrated history of working in the media production industry (India News, India News Haryana, Sadhna News, Mhone News, Sadhna News Haryana, Khabarain abhi tak, Channel one News, News Nation). I have UGC-NET qualification and Master of Arts (M.A.) focused in Mass Communication from Kurukshetra University. Also done 2 years PG Diploma From Delhi University.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *