Bhupender Singh Hooda: हरियाणा के पूर्व सीएम हुड्डा से ED ने की 7 घंटे पूछताछ, आम आदमी पार्टी उत्तरी समर्थन में

Bhupender Singh Hooda: हरियाणा के पूर्व सीएम हुड्डा से ED ने की 7 घंटे पूछताछ, आम आदमी पार्टी उत्तरी समर्थन में

हरियाणा के पूर्व CM भूपेंद्र हुड्‌डा से दिल्ली में एन्फोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ED) की पूछताछ खत्म हो गई है। हुड्डा से करीब साढ़े 7 घंटे पूछताछ हुई।

वह शाम करीब 7 बजे बाहर आए। हुड्डा पर CM रहते गुरुग्राम से सटे मानेसर में प्राइवेट बिल्डरों को फायदा पहुंचाने का आरोप है। हालांकि पूछताछ को लेकर हुड्‌डा या ED का कोई औपचारिक बयान नहीं आया है।

वहीं आम आदमी पार्टी ने हुड्‌डा का सपोर्ट किया है। हरियाणा AAP के नेता अनुराग ढांडा ने कहा कि I.N.D.I.A के हाथों हार देख भाजपा विपक्षी नेताओं के खिलाफ एजेंसियों का मिसयूज कर रही है। अगर हरियाणा में कांग्रेस-आप मिलकर लड़ी तो भाजपा टिक नहीं पाएगी।

इससे पहले ED की टीम ने हरियाणा के मानेसर में जमीन घोटाला मामले में दूसरी सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल की थी। चार्जशीट में कई बड़े बिल्डरों के नाम भी ED ने शामिल किए हैं।

इस पूरे मामले में सबसे अहम बात यह है कि ED ने अपनी जांच गुरुग्राम पुलिस और बाद में CBI की दर्ज FIR के बाद शुरू की थी। CBI ने इसमें हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा समेत 34 लोगों को आरोपी बनाया था। जिसके बाद ED ने इसमें मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था। इसमें अब तक 108.79 करोड़ की प्रॉपर्टी भी अटैच की जा चुकी है।

ALSO READ :   Hisar Airport: हरियाणावासियों के लिए आज का दिन ऐतिहासिक, हिसार से जहाज उड़ाने के लिए एलायंस एयर के साथ हुआ समझौता

ये तस्वीर 4 साल पहले की है। जब पूर्व CM हुड्डा मानेसर लैंड स्कैम में पेश होने पहुंचे थे।

ये तस्वीर 4 साल पहले की है। जब पूर्व CM हुड्डा मानेसर लैंड स्कैम में पेश होने पहुंचे थे।

चार्जशीट में इन बिल्डरों के भी नाम
ED की दायर की गई चार्जशीट में ABW इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड, उसके मालिक अतुल बंसल, पत्नी सोना बंसल, महामाया एक्सपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड, शशिकांत चौरसिया, दिलीप ललवानी, वरिंदर उप्पल, विजय उप्पल, रविंदर तनेजा, TDI इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड, विजडम रियलटोर्स प्राइवेट लिमिटेड और एबी रिफोंस इन्फ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड के नाम शामिल हैं।

सस्ते दामों में खरीदी किसानों की जमीन
बिल्डरों ने मानेसर, नौरंगरपुर और लखनौला के किसानों को सस्ते दामों पर जमीन अधिग्रहण का डर दिखाकर 20 से 25 लाख रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से 350 एकड़ जमीन को अपने नाम करवा लिया। ED का आरोप है कि बिल्डरों के कहने पर तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने जमीन अधिग्रहण का नोटिफिकेशन निकाला। इसका फायदा उठाते हुए बिल्डरों ने सस्ते दामों में खरीदी हुई जमीन को प्रति एकड़ करीब 4 करोड़ रुपए में बेच दिया।

ALSO READ :   Anshu sood gets Big Package: छात्रा ने पाया 58 लाख से ज्यादा का पैकेज, देश की इस यूनिवर्सिटी से की है पढ़ाई

बाद में सरकार ने साल 2007 में ये नोटिफिकेशन वापस ले लिया था। इससे जमीन मालिकों को करीब 1500 करोड़ का नुकसान हुआ था।

ABWIL ग्रुप रहा मुख्य सूत्रधार
जांच में पता चला कि किसानों से सबसे ज्यादा जमीन ABWIL ग्रुप के मालिक अतुल बंसल ने खरीदी थी। बाद में दूसरे बिल्डरों को महंगे दामों पर बेच दी थी। इस पूरे मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी CBI ने हरियाणा के पूर्व CM भूपेंद्र सिंह हुड्डा सहित 34 आरोपियों के खिलाफ फरवरी 2018 में हरियाणा के पंचकूला में चार्जशीट भी दाखिल की थी।

I am working as an Editor in Bharat9 . Before this I worked as a television journalist with a demonstrated history of working in the media production industry (India News, India News Haryana, Sadhna News, Mhone News, Sadhna News Haryana, Khabarain abhi tak, Channel one News, News Nation). I have UGC-NET qualification and Master of Arts (M.A.) focused in Mass Communication from Kurukshetra University. Also done 2 years PG Diploma From Delhi University.

ALSO READ :   INLD NEWS: हरियाणा में हर साल की तरह इस साल भी बाढ़ आपदा को रोकने के नहीं किए पुख्ता इंतजाम: अभय सिंह चौटाला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *